Poems

Poem: Breaking the News

We are making breaking news.We are commanding your views.Do not ask for facts.We don’t work on that.Do not ask for restrain.We don’t that maintain.Do not ask for secrecy.We reveal all for publicity.We sell lies as truth.We turn bad to good.We raise senseless chatter.TRP is all that matters.We are making breaking news.We are commanding your views.

Hindi Poem about life: किस उलझन में उलझे हो?

कल कहीं एक बचपन देखायूंही गलियों में भटकता था।आंखे सूनी थी उसकीकिसी की झुठन को तरसता था।एक बुड़ापा भी देखासड़क किनारे बस्ता था।रुपया, दो रुपया मिल जाएठोकरों के जूते साफ करता था।सुना एक प्यास के बारे मेंमीलों पानी के लिए भटकती है।सुना एक जवानी के बारे मेंरोज़गार के लिए तरसती है।एक घर है कहीं गुमसुमबम, …

Hindi Poem about life: किस उलझन में उलझे हो? Read More »