#poem : हद होती है नेतागिरी में नेता के गिरे जाने की

Politicians ought to be inspiring people. Well, they did inspire me today into writing this 😀 हद होती हैचालाकियां चलाने की।हद होती हैझूठ से बरगलाने की।तुम्हारे वादे भी देखेइरादे भी देखे।शतरंज पर नाचतेतुम्हारे प्यादे भी देखे।हद होती है बिसात बिछाने कीहद होती हैसच को झुटलाने की।नेता भी तुमअभिनेता भी तुम।हाथ Read More …